बारकोड रीडर के वैज्ञानिक कौन हैं? - Life At Exp

New Articles

Friday, July 31, 2020

बारकोड रीडर के वैज्ञानिक कौन हैं?


बारकोड रीडर के वैज्ञानिक कौन है?। बारकोड रीडर क्या है?
barcode readers

बारकोड रीडर अक्सर दोस्तों यह शब्द को हमें बहुत बार सुनने को आता है। बारकोड रीडर क्या है? और वैसे ही हमारे मन में यह सवाल भी आता है बारकोड रीडर किस वैज्ञानिक ने बनाया। बारकोड रीडर की खोज कब हुई। तो चलिए दोस्तों जानते हैं बारकोड रीडर का इतिहास

बारकोड रीडर क्या है?

बारकोड रीडर एक ऐसा यंत्र है जिसकी सहायता से हम आज किसी भी प्रोडक्ट या जो कोई ऐसी वस्तु जो किसी इंडस्ट्रीज से निकलती है उदाहरण के तौर पर जैसे कोई मेडिसिन रोज के जीवन मरा की कुछ चीजें जैसे साबुन इलेक्ट्रॉनिक चीजें इन सभी के जानकारी बहुत ही अच्छी तरीके से हम पा सकते हैं

हम किस प्रकार की जानकारी पा सकते हैं? और कैसे?

दोस्तों आपने कुछ ऐसा देखा होगा कि जो कुछ आप इलेक्ट्रॉनिक या कोई भी ऐसी वस्तु जो कंपनी से निकलती है तो उस पर आपने खड़े लाइन में कुछ ऐसी पटिया देखी होंगी जिस पर कुछ लंबी लाइन और नीचे कुछ गणित के अंक होते हैं यह क्या होता है यही बारकोड होता है। और बारकोड यंत्र इसी लाइन को एक लेजर बीम की मदद से स्कैन करके उसका मूल्य तथा वह किस दिन बना है। और उसके बारे में जो कुछ जानकारी कंपनी ने उस बारकोड में दी है वह सब कुछ मैं बता सकता है।

बारकोड रीडर के वैज्ञानिक कौन हैं?

बारकोड की खोज कब हुई। बारकोड रीडर कब खोजा गया। बारकोड रीडर का अविष्‍कार 1940 में हुआ था। ओर अविष्‍कार करने वाले तो वैज्ञानिक थे। जोसेफ वुडलैंड तथा बर्नाड सिल्‍वर ने मिलकर किया था।  और दोस्तों एक बात हम आपको बताते हैं। तभी के समय में बारकोड रीडर को प्रचारित करने का श्रेय ऐलन हैबर मैन को जाता है। 

फिर उसके बाद भारत में वर्ष 1998 में नेशनल इन्‍फोर्मेशन इं‍डस्ट्रियल वर्क फोर्स के द्वारा सभी प्रोडक्ट मतलब कि सभी उत्पादन ऊपर बारकोड लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

बारकोड रीडर काम कैसे करता है?

किसी भी उत्पात पर जो खड़ी रेखाएं जिसे हम बारकोड कहते हैं। उसे एक लेजर बीम की सहायता से स्कैन  करता है और उस उत्पाद की जो जानकारी है। वह कंप्यूटर तक पहुंचाता है और कंप्यूटर की मदद से हम तक उस जानकारी को पहुंचाया जाता है। और जो कुछ जानकारी हमें मिलती है। वह जानकारी वह उत्पाद बनाने वाली कंपनी उस बारकोड की खड़ी लाइनों के बीच में इस प्रकार लिखती है कि हमें वह पढ़ना नहीं आ सकता उसे बारकोड रीडर की सहायता से ही पढ़ा जा सकता है। अभी तो बारकोड रीडर का प्रयोग बैंक व पोस्‍ट ऑफिस में भी किया जाता है।

No comments:

Post a Comment