Life At Exp: Yoga

New Articles

Showing posts with label Yoga. Show all posts
Showing posts with label Yoga. Show all posts

Wednesday, August 12, 2020

बगल में पसीना और बदबू पसीने की बदबू रोकने के घरेलू उपाय

August 12, 2020 0
बगल में पसीना और बदबू पसीने की बदबू रोकने के घरेलू उपाय

गर्मियों के दिनों में सबसे ज्यादा आता है पसीना पसीना आना कोई समस्या नहीं है। लेकिन पसीने से आने वाली बदबू दूसरे लोगों को काफी ज्यादा परेशान करती है। दोस्तों अब इस पसीने की बदबू को दूर करने के लिए।

पसीना और बदबू पसीने की बदबू रोकने के घरेलू उपाय

 मार्केट में तरह-तरह के न्यूज़ वगैरह आते रहते हैं। जो कि आपको बदबू से निजात जरूर दिलाते हैं लेकिन केवल 1 या 2 घंटे तक और 2 घंटे बाद पहले से भी ज्यादा बदबू आने लगती है। लेकिन दोस्तों यहां पर ध्यान इस बात का दिया जाता है कि किसी इंसान को अगर स्किन एलर्जी है तो ऐसे में यह जियो और इस पे का प्रयोग करने से कई सारी प्रॉब्लम का भी सामना करना पड़ सकता है दोस्तों कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे आज की इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं जो कि बिल्कुल आसान है। इस का उपयोग करके आप पूरी तरह से नेचुरल ही शरीर से आने वाली बदबू को दूर कर सकते हैं।

 और इससे आपको कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होगा तो आज की इस आर्टिकल में उसी की जानकारी हम आपके लिए लेकर आए हैं तो चलिए जानते ऐसे कौन कौन से घरेलू तरीके हैं जिसके जरिए पसीने से आने वाली बदबू से हम आसानी से निजात पा सकते हैं। 

मुल्तानी मिट्टी

 मुल्तानी मिट्टी से जी हां आप चाहे तो मुल्तानी मिट्टी को अपने बगल में और पैरों में रगड़ने और इसे सूखने दें जब यह पूरी तरह से सूख जाए तो इसे धो लें ऐसा करने से डेड स्किन या पुराना पसीना जो इसकी शरीर में फैल रहा है वह सुप्रभा निकल जाता है।

-: क्या आप यह जानते हैं मुंह से बदबू क्यों आती है?

हैंड सेनीटाइजर

 हैंड सेनीटाइजर जी हां अगर आप बहुत भीड़ वाली जगह पर है और शरीर से आने वाली पसीने की बदबू से छुटकारा पाना चाहते हैं तो इसके लिए हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग कर सकते हैं दोस्तों इसके लिए आपको हैंड सैनिटाइजर की कुछ मात्रा हाथों में लगानी है और इसे अपने बगल में रगड़ना यह बगल में पसीने से बदबू पैदा करने वाले व्यक्तियों से लड़ेगा जिससे बगल से पसीने की बदबू नहीं आयेगी बात करते हैं अगले नुसखे की जो कि है 


फिटकरी

फिटकरी दोस्तों फिटकरी एक एंटीसेप्टिक है जो पसीने से आने वाली दुर्गंध को नष्ट कर दी है इसलिए नहाने के पानी में अगर आप एक चुटकी फिटकरी का पाउडर मिलाकर नहाते हैं तो इससे बॉडी से कम से कम पसीना निकलता है और पसीने से स्मेल भी नहीं आती है इसलिए नहाने के पानी में फिटकरी डालकर नहाते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है कि फिटकरी की मात्रा आप ज्यादा ना डालें जी हां नहीं तो इससे स्किन में ड्राइनेस आ सकती है मतलब हल्की सी मात्रा ही आपको डालनी है ताकि कोई स्किन प्रॉब्लम आपको ना हो दोस्तो बात करते हैं अगले तरीके की जोकि 


बेड टीशु

बेड टीशु का प्रयोग करना जी हां बहुत ज्यादा पसीना अगर आता है और आप इसकी दुर्गन्ध से बचे रहना चाहते हैं तो तेल सोक्ता पेपर ले बेटा पसीना पोंछ लें या पेपर नमी को सोखने में कारगर होते हैं इसलिए अपनी बगल में इसे रगड़ना चाहिए जिसे पसीने से आने वाली दुर्गंध को रोका जा सके बात करते हैं अगले तरीके की जो कि है 


व्हीटग्रास

व्हीटग्रास का जूस पीना जी हां व्हीटग्रास यानी कि गेहूं के ज्वारे में को रोकना था मात्रा में पाया जाता है जिससे शरीर के जहरीले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं इसलिए पसीने की बदबू से छुटकारा पाने के लिए रोजाना व्हीटग्रास का जूस पी सकते हैं थोड़ी मात्रा में बात करते हैं अगले तरीके की दोस्तों 


हल्का सा निंबू का रस

नहाने के पानी में हल्का सा निंबू का रस मिला ना जी हां हर दिन आप स्नान करने जाएं तो पानी में नींबू का रस आप मिक्स कर सकते हैं नींबू पानी से नहाने से आपका सारा दिन खुद को फ्रेशमिल करेगा और इससे बॉडी से आने वाली स्मेल भी दूर होगी अगर स्किन प्रॉब्लम से आप भूल रहे हैं तो नींबू काटकर उसे अंडर आर्म्स पर रगड़ भी सकते हैं या बेहतरीन डीओ की तरह वर्क करता है लेकिन यहां पर भी एक बात खास तौर पर ध्यान रखना दोस्तों बहुत से ऐसे व्यक्ति होते हैं जिसे नींबू से स्किन एलर्जी होती है तो आपको क्या करना है 


केवल 1 दिन हल्की मात्रा में नींबू मिलाकर स्नान करना है और उसके बाद दो या तीन दिन तक इसके प्रभाव को अपने शरीर पर देखना है अगर आपको कोई प्रॉब्लम नहीं होती है तो आप इसको आजमाएं और अगर आपको कोई प्रॉब्लम है तो इस उपाय को आप ना आजमाए हमने।


 जो पहले उपाय बताएं उसमें से आप किसी उपाय को आजमा सकते हैं तो दोस्तों यह थे वह सारे घरेलू तरीके जो मैं पसीने की बदबू से छुटकारा दिला सकते हैं वह भी आसानी से तो दोस्तों यही थी मेरी आज की जानकारी आप लोगों के लिए।


 उम्मीद करता हूं यह आर्टिकल और जानकारी आपको पसंद आई होगी अगर यह जानकारी अच्छी लगती है। इसे शेयर करें।         धन्यवाद....

Read More

Monday, August 3, 2020

पतले पैरों को मोटा कैसे करे?

August 03, 2020 0
patale-pairon-ko-mota-kaise

पैरों को मोटा करने के 2 उपाय

दोस्तों अक्सर हमने देखा है कि कुछ पुरुषों के शरीर के मुताबिक उनके पैरों की मोटाई कम होती है। और अक्सर यह कमी पुरुषों में ही पाई जाती हैं। और इस बात की पुरुषों को चिंता भी होती है। कि वह वह इस बात को बहुत ही गंभीरता से सोचते हैं पर इनका उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिल पाता। तो चलिए दोस्तों आज जानते हैं वह 2 उपाय कौन से है जिससे हम पैरों की मोटाई बढ़ा सकते हैं।

पैरों को मोटा करने के लिए क्या खाना चाहिए

जीवन में खाना-पीना अति आवश्यक बातें हमें जीवित रहने के लिए अत्यंत आवश्यक हमारा आहार होता है और आर के बिना हम जीवित नहीं रह सकते और जैसे हमारी आज जो मुश्किल है वह है पैरों को मोटा करने के लिए क्या करें इस बारे में आज हम बात कर रहे हैं तो मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि जो आप दैनिक जीवन में आहार लेते हो वही आहार आपके पैरों को मोटा करने में मददगार साबित हो सकता है।

हमारे दैनिक जीवन का जो रूटिंग है उसी हिसाब से हम जिस प्रकार का हर लेते हैं वही आहार हमारे जीवन के लिए सही होता है किसी भी प्रकार का आहार जो कि हमारे लिए कुछ अलग है जैसे मानो कुछ नया है उसे पचाने में ही हमारे शरीर की बहुत सारी शक्ति खत्म हो जाती है ऐसा अनोखा कोई आहार ना ले। क्योंकि दोस्तों बहुत सारी जगह पर ऐसा बताया जाता है कि यह आर लेने से आपके पैरों की मोटाई में बढ़ोतरी होगी पर मैं इस बात को नहीं मानता। दैनिक जीवन का आहार ही आपके लिए उत्कृष्ट है।

क्या दौड़ने से पैरों की मोटाई बढ़ सकती हैं?

दौड़ना एक व्यायाम है और दौड़ने से हमारे पैरों की मांसपेशियां मजबूत होती है और उससे हमारा स्वास्थ्य भी ठीक रहता है पर दोस्तों दौड़ने से पैरों की मोटाई बढ़ नहीं सकती फिर ऐसा क्या करें कि जिससे पैरों की मोटाई बढ़ जाए

पैरों की मोटाई बढ़ाने के लिए क्या उपाय करें

1) उठक बैठक
पैरों की मोटाई बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम व्यायाम जो है वह है उठक बैठक, उठक बैठक लगाने से आपके पैरों की मांसपेशियां मजबूत और उसमें खिंचाव के साथ तनाव भी बनता है जिससे उस मांसपेशियों में ब्लड सरकुलेशन इस प्रकार से होता है जो हम दैनिक जीवन में आहार लेते हैं उस आहार को वह मांसपेशियां अब्जॉर्ब कर लेती है और उससे हमारे पैरों की मोटाई बढ़ने लगती है


उठक बैठक करने का सही समय क्या हो सकता है

उठक बैठक करने के लिए आपको किसी भी निश्चित समय की कोई पाबंदी नहीं है। आपको जब जी चाहे तब जब वक्त मिले तब आप उठक बैठक कर सकते हो और इसका फायदा जरूर आपके मांसपेशियों में मजबूती लाने में होता है। और साथ में आपके पैरों की मोटाई भी बढ़ती हैं। पर यह कार्य करते समय सुबह का समय कभी आपको मिलता है तो वह आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा।

2) बॉबल एक्सरसाइज
इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको किसी जिम को ज्वाइन करना होगा बबल एक्सरसाइज की मदद से आपके पैरों की मोटाई बिल्कुल बढ़ सकती हैं और जैसे ही आप कोई जिनको जैन करेंगे तब जो भी कोई आपका ट्रेनर होगा उसे आप निसंकोच होकर बताइएगा कि आपको आपके पैरों की मोटाई बढ़ानी है तो वह व्यक्ति आपको उसी प्रकार का व्यायाम करने के लिए बताइएगा।

दोस्तों यह थे हमारे 2 उपाय इसकी सहायता से आप आपके पैरों की मोटाई बढ़ा सकते हैं आशा करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी होंगी और आपके पास कुछ सुझाव होंगे तो जरूर कमेंट कीजिएगा धन्यवाद
Read More

Thursday, June 11, 2020

उपवास में किन किन खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाना उचित है? । The fast

June 11, 2020 0
उपवास एक ऐसा समय होता है जब आपको अपने आप को पोषण की जांच में भी रखने की आवश्यकता होती है।  सुनिश्चित करें कि आप अपने दैनिक पोषक तत्वों को विभिन्न स्रोतों से प्राप्त कर रहे हैं

उपवास किस आधार पर है?

उपवास, विशेष रूप से धार्मिक उद्देश्यों के लिए, सदियों से एक सामान्य घटना रही है। और आम तौर पर, पूरे मानव इतिहास में, व्रत तोड़ने के तरीके के बारे में ज्यादा चिंता नहीं की गई।

हालांकि, खराब आहार सलाह के युग में, जब हमें पूरे दिन खाने के लिए कहा जाता है -  उच्च भोजन का उल्लंघन होता है - यह खाने को फिर से शुरू करने के लिए थोड़ी अधिक योजना बना सकता है जो सबसे अधिक शारीरिक आराम और आराम को प्राप्त करता है आपके दीर्घकालिक स्वास्थ्य और वजन घटाने के लक्ष्यों के लिए सबसे प्रभावी परिणाम।

उपवास करने वाले सभी लोग अपनी आध्यात्मिकता के साथ प्रार्थना, ध्यान और फिर बहुत उत्साह और श्रद्धालु मंदिरों में प्रार्थना करने और दिव्य आशीर्वाद लेने के लिये जाते हैं।

खानपान

उपवास नियमों से लोग कई तरह के फल और सब्जियां खा सकते हैं। अनाज से परहेज किया जाता है।  किसी भी लहसुन या प्याज के बिना कड़ाई से शाकाहारी भोजन तैयार किया जाता है और लोग मादक पेय से साफ होते हैं।  हालांकि, उपवास का मतलब यह नहीं है कि आपको हर दिन एक ही भोजन खाना होगा।  हर दिन कुट्टू-की-पूड़ी, आलू सब्जी और साबूदाना खिचड़ी से चिपके रहने की जरूरत नहीं है।  यहां उन सभी खाद्य पदार्थों की याद दिलाई जाती है, जिन्हें आप उपवास के दौरान भी खा सकते हैं।

१. दूध और दुग्ध उत्पाद

दूध और दूध से बने कई पदाथों का प्रयोग कर सकते हैं।  स्ट्रॉबेरी, खरबूजे और केले जैसे फलों से बने मिल्कशेक आपको हाइड्रेट रखते हुए भर सकते हैं।  शाम के नाश्ते के लिए दही को बेस के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।  कुछ चम्मच गढ़ा दही का प्रयोग करें और उसमें कटे हुए फल जैसे सेब, नाशपाती और अंगूर डालें।  इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और आपकी कटोरी भर कर खा सकते है।

२. नारियल और नारियल का दूध तैयार करना

नारियल के फ्लेक्स, नारियल का आटा और नारियल का दूध आपके उपवास की दिनचर्या के माध्यम से अच्छे साथी हो सकते हैं।  एक बहुमुखी फल होने के नाते, नारियल का उपयोग विभिन्न व्यंजनों, विशेष रूप से डेसर्ट बनाने में किया जा सकता है।  नारियल के आटे का उपयोग करके नारियल की खीर या क्रेप्स और पेनकेक्स बनाएं।  अपने पकवान को स्वादिष्ट करने के लिए शहद और ताजे फलों साथ में लेलीजिये

३. कच्चा केला

भोजन के लिए कच्चे केले के साथ एक सब्ज़ी बनाएं।  फ्राई और कच्चे केले के कटलेट भी ट्राई करने का एक अच्छा विकल्प है।  कटलेट बनाने के लिए अरबी, शकरकंदी, कद्दू और कटहल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Read More

Wednesday, June 10, 2020

क्या योग एक धर्म है? | योग का अभ्यास करते समय कैसे वस्त्र पहने चाहिए

June 10, 2020 0
 दोस्तों अब तक हमने योग और योगा के बारे में बहुत कुछ जान लिया है अब आगे दो विषय बाकी है उनकी भी आपको जानकारी नीचे दी गई है यदि आपने इसके पहले की पूरी सीरीज की पोस्ट नहीं पड़ी तो हर एक पोस्ट के अंदर एक दूसरे से जुड़ी लिंक है आप जरूर उस लिंक पर क्लिक करके उस पोस्ट को पढ़िए ताकि योग और योगा के बारे में आप अच्छी तरह से जान सके

योग का अभ्यास करते समय कैसे वस्त्र पहने चाहिए

क्या योग एक धर्म है? | योग का अभ्यास करते समय कैसे वस्त्र पहने चाहिए

 इसके विपरीत जो कोई उम्मीद कर सकता है, ढीले पतलून योग अभ्यास के लिए उपयुक्त नहीं हैं क्योंकि वे शरीर की रेखाओं को कवर करेंगे और शरीर को कई योगा पोज पूरा करने से रोकेंगे।
 वास्तव में, कार्बनिक पदार्थों से बने आरामदायक लेगिंग और चड्डी योग अभ्यास के लिए अधिक उपयुक्त हैं। यह संयोजन न केवल आंदोलन के लिए एक स्थान बना सकता है, बल्कि मानव शरीर रचना की दिशा के साथ भी संघर्ष नहीं करता है।  यह सबसे अच्छा है अगर आप आगे झुक सकते हैं और देख सकते हैं कि जब आप अपने बड़े कपड़े के नीचे देखने के लिए बिना झुकते हैं तो आपके घुटने आगे हैं: अरे, आपके घुटने कहाँ चले गए?  !

योग का सम्बंध और योग की सौरचना

 योग का संबंध खेलों से है।  रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देने, तनाव को खत्म करने और ब्लॉक को तोड़ने के लिए, हमें शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से व्यायाम करना चाहिए।  केवल इस तरह से हम यथास्थिति को बदल सकते हैं।

 योग कक्षाओं की संरचना के लिए कोई निर्धारित नियम नहीं हैं, लेकिन कुछ सिद्धांत अधिकांश अभ्यास विधियों पर लागू होते हैं।  परंपरागत रूप से, एक योग अभ्यास के मूल घटक हैं:

 ध्यान: सांस का ध्यान या सरल ध्यान।

 सांस का समायोजन (साँस लेने का व्यायाम): एक व्यायाम जो ऊर्जा प्रवाह को प्रभावित और नियंत्रित कर सकता है।

 आसन (शरीर आसन अभ्यास): रीढ़, व्यायाम की मांसपेशियों और संयोजी ऊतकों को स्थानांतरित करें, और चयापचय को बढ़ावा दें, जिसमें फ्लेक्सन, बैकवर्ड बेंडिंग, ट्विस्टिंग और हैंडस्टैंड शामिल हैं।

 श्लोक (ओम): आमतौर पर अभ्यास की शुरुआत और अंत में श्लोक "ओम" का पाठ या पाठ करते हैं।

 डेड बॉडी (पूर्ण विश्राम): व्यायाम के अंत में पूर्ण विश्राम की अवधि होगी, जो 10 मिनट तक लंबी हो सकती है।  इस तरह, व्यायाम द्वारा उत्पन्न तनाव को शरीर और आत्मा द्वारा पूरी तरह से अवशोषित किया जा सकता है।

 क्या योग एक धर्म है?

योग एक धर्म नहीं है, बल्कि जीवन का एक व्यावहारिक दर्शन है।  योग आपको व्यक्तिगत विकास के लिए जगह प्रदान करेगा, न कि विश्वास की हठधर्मिता।  हमने शुरुआत में ही कहा था कि योग का अर्थ ही एक सवारी की सवारी है।  इस छवि को बनाए रखने के लिए, मैं इस लेख को समाप्त करना चाहूंगा: योग शरीर और आत्मा को जोड़ने वाला एक प्रकार का दोहन है, जिसका अर्थ है कि योग में उपकरण और तकनीक हैं जो आपको बदलने में मदद करते हैं।




.......धन्यवाद दोस्तों
Read More

योग के कितने प्रकार हैं? What is Chris's Type of Yoga?

June 10, 2020 0
तक हमने जाना है कि योग क्या है? क्या हर कोई योग का अभ्यास कर सकता है? Can practice yoga? अब दोस्तों इसके बाद यह जानते हैं कि योग कितने प्रकार का होता है

योग के कितने प्रकार हैं?

योग प्रकार , lifeatexp

 अपने जन्म के बाद से, योग ने कई तरह के संकल्प लिए हैं, योग के अभ्यास के विभिन्न तरीकों और परंपराओं का निर्माण किया है। कुछ योग विद्यालय पूरी ताकत और चुनौतीपूर्ण हैं, कुछ लोगों को ताल से ताल मिलाते हैं, कुछ की नरम शैली है।  लोगों के लिए ध्यान के क्षेत्र में प्रवेश करना आसान है, कुछ सटीकता पर जोर देते हैं और उपचार प्रभाव डालते हैं।  सभी प्रकार के योग एक दूसरे के साथ संघर्ष नहीं करते हैं, और हर किसी को उस प्रकार को खोजने की आवश्यकता है जो उन्हें सबसे अच्छा लगता है।  मुख्य योग विद्यालय हैं:

 यह भी पढ़ें:- क्या हर कोई योग का अभ्यास कर सकता है? Can practice yoga?

 "अष्टांग योग"
"अनुस्वार योग"
"अयंगर योग"
"जीवमुक्ति योग"
"आत्मा योग"
"कुंडलिनी योग"
"यिन योग"
यह योग के प्रकार है अवश्य ध्यान में रखें

कौन से प्रकार का योग आमतौर से सही है?


इसके लिए आपको सबसे उपयुक्त अभ्यास विधि ढूंढने की आवश्यकता है।  यह नहीं कहा जा सकता है कि एक प्रकार दूसरे की तुलना में बेहतर है, केवल एक प्रकार दूसरे व्यक्ति की तुलना में अधिक उपयुक्त है।  सही प्रकार ढूंढना इसके लायक है।

 योग को "मानव ज्ञान" के रूप में समझा जा सकता है, और केवल आप इसकी गवाही दे सकते हैं।  वास्तविक ज्ञान केवल अभ्यास के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।  यह पता लगाने के लिए कि आपके लिए कौन से तरीके उपयुक्त हैं, फिर आपको इन तरीकों का अनुभव करना होगा।  हालाँकि, आपको इसका अनुभव तब नहीं करना चाहिए जब आप मन की सबसे अच्छी स्थिति में हों, लेकिन कई बार यह प्रयास करने के लिए, जिसमें आप थके हुए, थके हुए, या पूरी तरह से उदास हैं।

यह जाने:- योग क्या है?

 इसके अलावा, लक्ष्य हासिल करने के लिए पहला अभ्यास अक्सर मुश्किल होता है।  निवर्तमान व्यक्तित्व वाले लोग निष्कर्ष पर नहीं जा सकते हैं और महसूस कर सकते हैं कि वे अभ्यास में खुद को पसीना बहाने के लिए उच्च तीव्रता वाले लयबद्ध योग अभ्यास का चयन करना चाहते हैं।  ऐसे लोग वास्तव में खुद को शांत करने और शरीर और दिमाग को संतुलित करने के लिए एक शांत योग शैली का चयन कर सकते हैं।  इसके विपरीत, जो लोग संयमी होते हैं और यहां तक ​​कि निराशावादी भी योग के प्रकारों के लिए अधिक उपयुक्त होते हैं जो ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं और क्षमता पैदा करते हैं, जैसे कि कुंडलिनी योग।

Read More

Tuesday, June 9, 2020

घुटने के दर्द के लिए उपयोगी सलाह | Advice for knee pain

June 09, 2020 0
  लगभग 30-37 की आयु में प्रवेश करने के बाद, कई लोग अक्सर अपनी फिटनेस में सुधार करने के लिए पहाड़ों पर जाते हैं, या सीढ़ियों पर चढ़ने के लिए लिफ्ट लेने के बजाय, उन्हें (Pain in knees) घुटने में दर्द होगा।  इस समय, मुझे आश्चर्य है, व्यायाम कैसे करें और अभी भी परेशानी है?

घुटने के दर्द के लिए उपयोगी सलाह | Advice for knee pain.

Shutterstock image

 चाहे वह चल रहा हो, बैठना हो या घुटने टेकना, जीवनशैली की कई आदतें अनजाने में घुटने के जोड़ को प्रभावित करेंगी।  और घुटने की समस्या (Problem?) धीरे-धीरे कम हो रही है।

 पारंपरिक अवधारणा में, पहाड़ पर चढ़ना एक अच्छा (aerobic exercise) एरोबिक व्यायाम है, जो सभी को जांघों और नितंबों के मांसपेशी समूहों को व्यायाम करने में मदद कर सकता है, और साथ ही, कार्डियोपल्मोनरी फ़ंक्शन भी कर सकता है।

 लेकिन तथ्य यह है कि कई आर्थोपेडिक (Orthopedic) विशेषज्ञों ने याद दिलाया: माउंटेन क्लाइंबिंग (Valimbinger) "सबसे बेवकूफाना व्यायाम है।"

यह पढ़े- Important advice for losing weight । वजन कम करने के लिए जरूरी सलाह

 चढ़ाई एक वजन सहने वाला व्यायाम है। कमर से नीचे के जोड़ों को आपके शरीर का वजन उठाना पड़ता है, विशेषकर घुटने का।  जब शरीर ऊपर चढ़ता है, तो घुटने का वजन सामान्य से लगभग 4 गुना बढ़ जाएगा।

 घुटने का ठीकठाक जीवन केवल 60 साल है, व्यायाम की आदतों को बदलें और 40 साल का विस्तार करें

 वास्तव में, जोड़ों का जीवन सीमित है।  एक बार जब जोड़ों में "थकावट" होती है, तो यह विभिन्न संयुक्त रोगों का कारण होगा!  जोड़ों का जीवनकाल मुख्य रूप से जीन द्वारा निर्धारित किया जाता है, और सामान्य स्वस्थ जीवन काल 60 वर्ष है।

 एक ओर, हर किसी को जांघों और नितंबों की मांसपेशियों को व्यायाम करने की आवश्यकता होती है।  लेकिन दूसरी ओर, हर कोई घुटने को चोट नहीं पहुँचा सकता है।  अत्यधिक उपयोग इसके पहनने और आंसू को बढ़ाएगा और इसकी मरम्मत (Repairs) नहीं की जा सकती है।

 लेकिन विशेषज्ञों ने बताया कि इस समस्या को हल करना मुश्किल नहीं है, बस हर किसी की व्यायाम की आदतों को बदल दें।

 40 साल तक घुटने का विस्तार


 कठोर फर्श पर जोरदार व्यायाम न करें, जैसे स्क्वाटिंग, लीपफ्रॉग, रनिंग, स्किपिंग रोप और डांसिंग, घुटने की हड्डी पर पहनने को बढ़ाएंगे।
Do not do vigorous exercise on hard floors, such as self-correcting, leapcrog, running. Skirping rope and daring will increase wear on the knee bone.

 विशेष रूप से स्क्वेट नीचे और फिर खड़े हो जाएं, जोड़ों पर सबसे बड़ा पहनावा।  आर्टिक्युलर कार्टिलेज लगभग 1 से 2 मिलीमीटर है, और इसकी भूमिका दबाव को कम करने और हड्डी को टूटने से बचाने में है।

 यह ट्रैक पर रबड़ के बराबर है, जो हर किसी को ऊपर और नीचे जाने पर एक बल बफर करने में मदद कर सकता है, और फिर अपने जोड़ों की रक्षा कर सकता है।

 हार्ड फ्लोर पर जाएं और सुपर मजबूत प्रतिक्रिया बल के तहत वापस उछलें, जिससे जोड़ों और हड्डियों को काफी नुकसान होगा।  इसलिए, रबड़ के खेल स्थानों में अधिक खेल करने की सिफारिश की जाती है।

 सही उम्र में यह व्यायाम और खेल आवश्यक है

Life At Exp

 घुटने के जोड़ों के लिए सबसे उपयुक्त व्यायाम: तैराकी, साइकिल चलाना और जिमनास्टिक। सामान्य लोगों के लिए, जोड़ों के लिए सबसे फायदेमंद व्यायाम तैराकी है।

 पानी में, मानव शरीर जमीन के समानांतर होता है, और जोड़ों को मूल रूप से वजन-असर नहीं होता है।  मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी पुरानी बीमारियों वाले लोग अधिक तैरते हैं और पूरे शरीर के लिए अच्छे होते हैं।  व्यायाम करने के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए, आप तैराकी, जिमनास्टिक और अन्य हल्के वजन वाले खेल चुन सकते हैं।

यह पढ़े- What is yoga? Yuga benefit। how to yoga important life? योग क्या है?

 ऐ मेई आपके लिए एक "घुटने की देखभाल" क्रिया पेश करना चाहता है जो शून्य लागत, उपयोग में आसान, कम साझाकरण और सभी उम्र के लोगों के लिए उपयुक्त है।

 आप अपने घुटने के साथ असहज हैं या नहीं, यह अभ्यास आपको सूट करेगा, क्योंकि यह व्यायाम: बाहर जाने की जरूरत नहीं, कोई उपकरण नहीं, घुटने को कोई नुकसान नहीं, और आप घुटने का व्यायाम कर सकते हैं!

  व्यायाम करने के तरीका (Ways to exercise)


 1. एक बाक़ी के साथ एक कुर्सी का पता लगाएं, अपने कूल्हों को वापस बैठें और कुर्सी के पीछे की ओर झुकें।  अपने हाथों को कुर्सी और पीछे के तकिये के पीछे रखें।

 2. एक स्नान तौलिया जांघ के नीचे रखा जाता है, और कई स्नान तौलिए और तौलिए भी एक साथ बंधे जा सकते हैं, जब तक कि वे पर्याप्त रूप से मोटी और कसकर बंधे न हों, इसका उद्देश्य घुटने को ऊपर उठाना है।

 3. सीधे बैठें, अपनी पीठ को सीधा रखें, और अपने पैरों को नीचे रखें, और स्वाभाविक रूप से मिलाते हुए।  बहुत अधिक स्विंग करने की आवश्यकता नहीं है, बस इसे आसानी से हिलाएं!

 यह चाल सरल लगती है, लेकिन यह घुटने को मजबूत करने में बहुत सहायक है।

 पुराने घुटने की चोट या पैर दर्द वाले लोग दर्दनाक पैर को स्थानांतरित करने के लिए एक स्वस्थ पैर का उपयोग कर सकते हैं। स्वस्थ पैर दर्दनाक पैर का समर्थन करता है और एक ही समय में आगे और पीछे हिलाता है। यह पुनर्वास के बराबर है, जो धीरे-धीरे घुटने को स्वास्थ्य को बहाल कर सकता है।

 अपने घुटनों के आसपास की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए हर दिन अभ्यास करें, आपको हवा के जोकेके साथ चलने दें, हवा के साथ चलें, और हवा के साथ सीढ़ियों से ऊपर जाएं!
Read More